You are here
Editor's Choice 

एक ऐसा एड, जिसे देख कर आपको महसूस होगा घरेलू हिंसा का दर्द

भारत में घरेलू हिंसा को रोकने के लिए कानून तो बने हैं, लेकिन महिलाएं अक्सर घर और रिश्ते को बचाने की चाह में सब सहती रहती हैं और कभी इसकी शिकायत नहीं करतीं। जबकि हर स्त्री को अपने आत्मसम्मान और स्वाभिमान के लिए चाहिए कि वो इसके खिलाफ न केवल बोले, बल्कि जरूरत पड़ने पर कानून का भी सहारा ले।

Read More