You are here
Editor's Choice 

शिव भक्त और शक्ति के पुजारी हैं नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राजनीति हो या कूटनीति इनमें तो वे मास्टर स्टोक खेलने में माहिर है ही, लेकिन भगवान शिव के प्रति उनका अगाध प्रेम भी कही छुपा नहीं हैं. मोदी के 2014 चुनाव प्रचार और उसके बाद प्रधानमंत्री बनने तक के सफर पर यदि नजर दौड़ाएं तो यह साफ जाहिर होता है कि मोदी शिव कि बाराणसी (काशी) से लोक सभा चुनाव लड़ना भी उनकी इसी भक्ति साधना का प्रमाण हैं.

काशी से चुने जाने के बाद तो वे शिव के लगभग सभी धामों में अर्चना कर चुके हैं. पशुपति नाथ से लेकर केदारनाथ तक. प्रधानमंत्री मोदी से पहले इंदिरा गांधी (1980) और विश्वनाथ प्रताप सिंह (1989) भी बतौर पीएम केदारनाथ जा चुके हैं. भगवान शिव के 12 ज्योर्तिलिंगों में 11वें केदारनाथ धाम के प्रति मोदी का पहले से ही लगाव है. कहा जाता हैं कि गुजरात के मुख्यमंत्री बनने से पहले मोदी ने हिमालय के इस क्षेत्र गरुड़चट्टी की एक गुफा में रहकर साधना की. गुजरात के मुख्यमंत्री बनने से पहले भी मोदी केदारनाथ की यात्रा कर चुके हैं.

एक नजर नरेंद्र मोदी शिव भक्ति पर

पशुपतिनाथ मंदिर
अगस्त 4, 2014: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नेपाल की यात्रा की. इस दौरान उन्होंने भगवान पशुपति नाथ मंदिर में पूजा-अर्चना की, प्रधानमंत्री ने वहां रुद्राभिषेक और भगवान शिव की पूजा की.

शिव प्रतिमा का अनावरण
फरवरी 24, 2017: महाशिवरात्रि के पावन मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोयंबटूर में बनी भगवान शिव की 112 फुट ऊंची प्रतिमा का अनावरण किया.

सोमनाथ मंदिर
मार्च 7, 2017: गुजरात दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमनाथ मंदिर में आरती की. प्रधानमंत्री बनने के बाद पीएम मोदी पहली बार सोमनाथ मंदिर पहुंचे. इससे पहले वह 1 फरवरी 2014 को सोमनाथ गए थे.

काशी विश्वनाथ
मार्च 4, 2017: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के अंतिम दौर में उन्होंने काशी विश्वनाथ मंदिर जाकर भगवना शिव की पूजा-अर्चना भी की. 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले भी मोदी ने यहां आकर पूजा अर्चना की थी.

लिंगराज मंदिर
अप्रैल 16, 2017: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भुवनेश्वर के प्रसिद्ध लिंगराज मंदिर में पूजा की. इस मंदिर के बारे में कहा जाता हैं कि देवी पार्वती ने यहां पर लिट्टी व वसा नाम को दो राक्षसों का वध किया गया था.

महाकाल उज्जैथन
01 जून 2011: तब गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में नरेन्द्र मोदी महाकाल की नगरी उज्जैन पहुंचे. मोदी सुबह 8.30 बजे एयरपोर्ट पर उतरे और सीधे महाकाल मंदिर पहुंचे. मोदी यहां पर एक विशेष अनुष्ठान में शामिल हुए, यह अनुष्ठान 1 घंटे तक चला.

मां कामाख्या
अप्रैल 8, 2016 : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने असम विधान सभा चुनावों के दौरान अपनी चुनाव प्रचार मुहिम की शुरुआत ही नीलाचर पर्वत पर स्थित मां कामाख्या देवी के ऐतिहासिक मंदिर में पूजा करके की थी.

वैष्णो देवी
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 26 मार्च 2014 की सुबह वैष्णो देवी मंदिर में प्रार्थना की. श्री मोदी ने सांझीछत से वैष्णो देवी तक यात्रा की और वहां प्रार्थना की.

इनके अलावा
3 जनवरी 2017: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भगवान वेंकटेश्वर के मंदिर में पूजा करने पहुंचे थे . प्रधानमंत्री ने वहां मंदिर के अंदर पवित्र स्वर्ण वेदिका और पवित्र स्वर्ण ध्वजस्तंभ पर पूजा की. वह करीब 20 मिनट मंदिर में रहे.

Comments

comments

Loading...

Related posts