You are here
Editor's Choice 

विप्रो को धमकी, 500 करोड़ दो नहीं तो ऑफिस में छिड़क देंगे जहर

आईटी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी विप्रो को धमकी भरा ईमेल मिला है. इसमें कंपनी से डिजिटल करेंसी बिटक्वॉइन्स में 500 करोड़ रुपये की फिरौती मांगी गई है. पैसे न देने पर राइसीन नाम के जहरीले पदार्थ से कंपनी के दफ्तरों पर हमले की धमकी दी गई है. बेंगलुरु पुलिस ने इसकी पुष्टि की है.

धमकी भरा ईमेल मिलने के बाद विप्रो ने अपने दफ्तरों की सुरक्षा बढ़ा दी है. कंपनी ने पुलिस से भी शिकायत की गई है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी को शुक्रवार को धमकी भरा ईमेल मिला. इसमें 20 दिन के अंदर कंपनी से 500 करोड़ रुपये देने को कहा गया है. साथ ही इसमें यह भी बताया गया है कि इस रकम को अदा कैसे करना है. इसके लिए मेल में एक लिंक भी दिया गया है.

विप्रो ने अपने बयान में कहा कि कंपनी के ऑपरेशंस पर किसी तरह का कोई असर नहीं है. मामले की जांच चल रही है. हालांकि कंपनी ने धमकी के बारे में स्पष्ट रूप से कुछ कहा नहीं.

पुलिस ने कंपनी को धमकी भरा ई-मेल मिलने की पुष्टि की है. बेंगलुरु पुलिस के एडिशनल कमिश्नर (क्राइम) एस रवि ने बताया कि इस मामले में साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज की गई है. मामले में आगे की जांच जारी है.

क्या है राइसीन
बता दें कि राइसीन बेहद जहरीला होता है. इसमें प्राकृतिक रूप से लेक्टिन (कार्बोहाइड्रेट-बाइडिंग प्रोटीन) पाया जाता है, जोकि कैस्टर ऑयल (अरंडी का तेल) प्लांट (इसे उत्तर भारत में आम भाषा रेड़ भी कहकर जाता है) में पाया जाता है. चुटकी भर नमक के बराबर राइसीन पाउडर का डोज एक व्यक्ति की जान ले सकता है.

Source

Loading...

Related posts