You are here
Home > Editor's Choice > मॉडल सोनिका चौहान की मौत के मामले में बांग्ला एक्टर विक्रम ने किया सरेंडर

मॉडल सोनिका चौहान की मौत के मामले में बांग्ला एक्टर विक्रम ने किया सरेंडर

बांग्ला अभिनेता विक्रम चटर्जी ने शुक्रवार को कोलकाता की बंकसाल कोर्ट में सरेंडर कर दिया. विक्रम चटर्जी पर लापरवाही और तेज रफ्तार से कार चलाने का आरोप है. बता दें कि बीते हफ्ते हुए सड़क हादसे में मॉडल-टीवी एंकर सोनिका सिंह चौहान की मौत हो गई थी. जिस वक्त ये हादसा हुआ, बताया जा रहा है कि उस वक्त कार विक्रम चटर्जी चला रहा था. कार में सोनिका चौहान साथ बैठी थीं.

अस्पताल में भर्ती थे विक्रम
हादसे के बाद विक्रम चटर्जी का इलाज शहर के एक प्राइवेट अस्पताल में चल रहा था. गुरुवार शाम को ही विक्रम को अस्पताल से छुट्टी मिली. पुलिस ने विक्रम को पूछताछ के लिए पेश होने को एक हफ्ते का समन दे रखा था. विक्रम पर IPC की धारा 304ए (लापरवाही से मौत) और 279 (लापरवाही से गाड़ी चलाना) के तहत केस दर्ज किया गया है. दोषी साबित होने पर विक्रम को दो साल तक जेल हो सकती है.

कार्रवाई की मांग ने पकड़ा जोर
29 अप्रैल को हुए हादसे में सोनिका सिंह चौहान की मौत हो गई थी. हादसे के बाद विक्रम को फर्स्ट एड के बाद छुट्टी दे दी गई थी. लेकिन विक्रम बाद में कथित बीमारी की बात कह कर एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती हो गया था. सोनिका के परिवार का आरोप है कि कार चलाते वक्त विक्रम ने नशा कर रखा था. इस बीच विक्रम के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग सोशल मीडिया पर भी जोर पकड़ रही है.

सोनिका की दोस्त ने लिखी फेसबुक पोस्ट
सोनिका की दोस्त सतारुपा पाइने ने अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखा है- ‘इस अनमोल लड़की की मौत हो गई. ये टॉलिवुड का अभिनेता नशे में था. उसका झूठा चेहरा और उसके अतीत का रिकॉर्ड बताता है कि उसने किसी ड्रग्स का नशा कर रखा था. विक्रम की कार के एयरबैग सोनिका की जान नहीं बचा सके क्योंकि उसने कार को उसी तरफ झुका दिया था जहां सोनिका बैठी थी. क्या मुझे विशेष जांच के लिए हाईकोर्ट में PIL दाखिल करनी चाहिए.’

विक्रम पर साधा निशाना
सोनिका के एक और दोस्त फैशन डिजाइनर नवोनिल दास ने फेसबुक पोस्ट में लिखा है- ‘विक्रम, तुम्हें साथ बैठे व्यक्ति या सड़क पर चल रहे लोगों की सुरक्षा को लेकर जरा भी फिक्र नहीं थी. जब अंधाधुंध रफ्तार से उस रात को गाड़ी चला रहे थे. सारे तथ्य यही कह रहे हैं. रफ्तार आदमी खुद चुनता है (इसके लिए तुम किसी नशे के प्रभाव में होने को दोष नहीं दे सकते). तुमने ये नहीं समझा कि तुम्हारे पास किसी की जान जाने का कारण बनने का अधिकार नहीं है. जीवन के लिए तुम्हारे दिल में जरा भी सम्मान नहीं, चाहे वो अपनी जान हो या किसी दूसरे की.’

पहले भी हुई थी हाई प्रोफाइल व्यक्ति की मौत
हालिया कुछ हफ्तों में पश्चिम बंगाल में ये मामला है जिसमें किसी हाई प्रोफाइल व्यक्ति की मौत हुई है. इसी साल मार्च में बांग्ला लोकगायक कालिकाप्रसाद भट्टाचार्य की बर्धवान जिले में सड़क हादसे में मौत हो गई थी. उस वक्त भट्टाचार्य अपनी एसयूवी पर सवार थे जिसे ड्राईवर चला रहा था. हादसे के बाद पुलिस ने ड्राईवर को गिरफ्तार कर लिया था.

सीएम ने शुरू किया अभियान
इन दोनों हादसों ने कोलकाता को स्तब्ध कर दिया है. ये हादसे ऐसे वक्त में हुए जब मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सड़क सुरक्षा पर जागरूकता के लिए ‘सेफ ड्राईव, सेव लाइफ’ नाम से अभियान शुरू किया है.

 

Source

Comments

comments