You are here
Home > Editor's Choice > बदसलूकी पर उतरा पाक, भारतीय राजनयिक का फोन जब्त किया

बदसलूकी पर उतरा पाक, भारतीय राजनयिक का फोन जब्त किया

पाकिस्तान में इस्लामाबाद हाई कोर्ट के स्टाफ ने शुक्रवार को भारतीय उच्चायोग के प्रथम सचिव का फोन जब्त कर लिया है। यह भारतीय राजनयिक के लिए पाकिस्‍तान की ओर से की गयी अपमानजनक कार्रवाई है।

इस्लामाबाद में भारतीय महिला उज्मा के साथ जबरन शादी और मारपीट के मामले में सुनवाई के लिए राजनयिक पाकिस्तान गए हैं। मामले की तहतक जाने के प्रयास में भारतीय उच्चायोग जुटा है।

खबरों के अनुसार, जब कोर्ट में उज्मा मामले पर सुनवाई हो रही थी तब भारतीय राजनयिक वहां पहुंचे। इसी दौरान पाकिस्तानी अधिकारियों ने उनका फोन जब्त कर लिया। अधिकारियों की दलील है कि राजनयिक कोर्ट में जज की फोटो खींचने की कोशिश कर रहे थे। जबकि भारतीय उच्चायोग ने इसका विरोध करते हुए पाकिस्तान के दावे को खारिज किया है। उच्चायोग का कहना है कि आरोप पूरी तरह से गलत है और उसके राजनयिक को फोन लौटाया जाए।

इस मामले ने दोनों मुल्कों की सरकार का ध्यान खींचा है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के विदेश सलाहकार सरताज अजीज ने कहा है कि केस खत्म होने के बाद भारतीय महिला को जल्द से जल्द अपने मुल्क भेजा जाएगा। भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने कहा कि उज्मा भारतीय उच्चायोग में सुरक्षित और खुश है।

भारतीय मूल की महिला उजमा ने भारतीय उच्चायोग की शरण ले अपने पाकिस्तानी पति पर आरोप लगाया है कि पाकिस्तानी डॉक्टर ताहिर अली ने बंदूक की नोक पर उससे जबरन शादी कर ली है। शादी के बाद उसे हिंसा और यौन उत्पीड़न का सामना करना पड़ा। जिसके बाद उजमा ने इस्लामाबाद अदालत में याचिका दायर की। उज्मा ने मजिस्ट्रेट के सामने अपना बयान रिकॉर्ड कराया है। उजमा ने मजिस्ट्रेट से बतरसर कि वह शादी के लिए नहीं, बल्कि अपने रिश्तेदारों से मिलने के लिए पाकिस्तान आई थी। लेकिन यहां उसे ताहिर अली ने जबरन शादी कर बंधक बना लिया। इस मामले की सुनवाई इस्लामाबाद की अदालत में हो रही है।

Source

Comments

comments